अन्य खेलखेल

चेस ओलंपियाड से पाकिस्तान ने लिया नाम वापस

मामल्लापुरम

    पाकिस्तान ने 44वें चेस ओलंपियाड से अपना नाम वापस ले लिया है. चेस ओलंपियाड की मशाल कश्मीर से होकर गुजरी थी, इसी के चलते पाकिस्तान ने बौखलाहट में इस इवेंट से हटने का फैसला किया है. पाकिस्तान के विदेश कार्यालय के प्रवक्ता असीम इफ्तिखार ने रेडियो पाकिस्तान को दिए गए स्टेटमेंट के जरिए इस फैसले की जानकारी दी है.

असीम इफ्तिखार ने रेडियो पाकिस्तान को दिए एक बयान में कहा, 'भारत ने इस प्रतिष्ठित अंतरराष्ट्रीय खेल आयोजन का राजनीतिकरण किया. पाकिस्तान को शतरंज ओलंपियाड में भाग लेने के लिए अंतरराष्ट्रीय शतरंज महासंघ (FIDE) द्वारा आमंत्रित किया गया था. इस आयोजन के लिए एक पाकिस्तानी दल पहले से ही प्रशिक्षण ले रहा था.'

भारतीय विदेश मंत्रालय का आया बयान

उधर, शतरंज ओलंपियाड से पाकिस्तान के हटने के फैसले को बेहद दुर्भाग्यपूर्ण करार देते हुए विदेश मंत्रालय ने कहा कि यह हैरानी की बात है कि पाकिस्तान ने अचानक शतरंज ओलंपियाड में भाग नहीं लेने का फैसला किया, खासकर जब उसकी टीम भारत पहुंच गई थी.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने पाकिस्तान के शतरंज ओलंपियाड में हिस्सा लेने से पीछे हटने के निर्णय के बारे में पूछे जाने पर संवाददाताओं से कहा, 'यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि पाकिस्तान ने प्रतिष्ठित अंतरराष्ट्रीय आयोजन का राजनीतिकरण किया.' उन्होंने बताया कि हैरानी की बात है कि पाकिस्तान ने अचानक शतरंज ओलंपियाड में भाग नहीं लेने का फैसला किया, खासकर जब उसकी टीम भारत पहुंच गई थी.

उन्होंने कहा कि उन्हें बताया गया है कि उनकी (पाकिस्तान) टीम यहां पहुंच गई है. बागची ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि कुछ बयान देकर और प्रतियोगिता में हिस्सा लेने से पीछे हटकर ऐसे आयोजन का राजनीतिकरण करने का प्रयास किया है. प्रवक्ता ने कहा कि वे स्पष्ट करना चाहते हैं कि सम्पूर्ण जम्मू कश्मीर और लद्दाख भारत का अभिन्न हिस्सा है.

शतरंज ओलंपियाड का आयोजन चेन्नई से 50 किलोमीटर दूर मामल्लापुरम में हो रहा है. पहली बार ओलंपियाड भारत में हो रहा है और इसमें रिकॉर्ड खिलाड़ी भाग ले रहे हैं. ओपन वर्ग में 188 और महिला वर्ग में 162 खिलाड़ी उतरेंगे. इसकी मशाल रिले पिछले 40 दिन में 75 शहरों में होती हुई यहां पहुंची है.

विश्वनाथन आनंद नहीं लेंगे भाग

टूर्नामेंट में भारत की तीन तीन टीमें ओपन और महिला वर्ग में उतरेंगे. महान शतरंज खिलाड़ी विश्वनाथन आनंद खेल नहीं रहे हैं, लेकिन खिलाड़ियों के मेंटोर की भूमिका में होंगे. तमिलनाडु सरकार ने टूर्नामेंट का जबर्दस्त प्रचार किया है. पारंपरिक तमिल परिधान पहने ओलंपियाड के शुभंकर ‘थम्बी’ के कटआउट जगह जगह लगाये गए हैं.

ओलंपियाड रूस में होना था, लेकिन यूक्रेन पर रूस के सैन्य हमले के बाद उससे मेजबानी छीन ली गई. आनंद समेत शतरंज धुरंधरों का मानना है कि इसके आयोजन से तमिलनाडु में शतरंज की लोकप्रियता और बढ़ेगी.

Related Articles

Back to top button
Close
Close